गुरुवार, 3 सितंबर 2009

तुम कौन हो???



तुम कौन तुम्हें किसने भेजा,


क्यों मुझे सहारा देते हो


मेरी आंखों का हर आंसू,


अपनी आंखों में लेते हो


मैं तुमको अपना क्या मानूं ,


अभिशाप हो या वरदान हो तुम?


तनहाई में अक्सर रो रो कर,


तुम मेरा नाम क्यों लेते हो ???

5 टिप्‍पणियां:

ओम आर्य ने कहा…

वाह वाह वाह वाह वाह ........और क्या कहू

Rohit "meet" ने कहा…

kuchh sawalo ke jawab nahi hote wah wah

सुशीला पुरी ने कहा…

mn ko chhune wali post ............

amrendra "aks" ने कहा…

kya khoob ukera hai apne meethe se dard ko.............kya baat haiiiiiiii

बेनामी ने कहा…

bht khoob

Related Posts with Thumbnails